उपाय (Remedy)


उपाय (Remedy)
शिवपुराण के अनुसार भगवान शिव को प्रसन्न करने के उपाय इस प्रकार हैं...
1. भगवान शिव को चावल चढ़ाने से धन की प्राप्ति होती है।
2. तिल चढ़ाने से पापों का नाश हो जाता है।
3. जौ अर्पित करने से सुख में वृद्धि होती है।
4. गेहूं चढ़ाने से संतान वृद्धि होती है।
यह सभी अन्न भगवान को अर्पण करने के बाद गरीबों में बांट देना चाहिए।
शिवपुराण के अनुसार जानिए भगवान शिव को कौन-सा रस (द्रव्य) चढ़ाने से क्या फल मिलता है...
1. बुखार होने पर भगवान शिव को जल चढ़ाने से शीघ्र लाभ मिलता है। सुख व संतान की वृद्धि के लिए भी जल द्वारा शिव की पूजा उत्तम बताई गई है।
2. तेज दिमाग के लिए शक्कर मिला दूध भगवान शिव को चढ़ाएं। 
3. शिवलिंग पर गन्ने का रस चढ़ाया जाए तो सभी आनंदों की प्राप्ति होती है। 
4. शिव को गंगा जल चढ़ाने से भोग व मोक्ष दोनों की प्राप्ति होती है।
5. शहद से भगवान शिव का अभिषेक करने से टीबी रोग में आराम मिलता है।
6. यदि शारीरिक रूप से कमजोर कोई व्यक्ति भगवान शिव का अभिषेक गाय के शुद्ध घी से करे तो उसकी कमजोरी दूर हो सकती है।
शिवपुराण के अनुसार जानिए भगवान शिव को कौन-सा फूल चढ़ाने से क्या फल मिलता है...
1. लाल व सफेद आंकड़े के फूल से भगवान शिव का पूजन करने पर मोक्ष की प्राप्ति होती है।
2. भगवान शिव की पूजा चमेली के फूल से करने पर वाहन सुख मिलता है। 
3. अलसी के फूलों से शिव की पूजा करने पर मनुष्य भगवान विष्णु को प्रिय होता है। 
4. शमी वृक्ष के पत्तों से पूजन करने पर मोक्ष प्राप्त होता है। 
5. बेला के फूल से पूजा करने पर सुंदर व सुशील पत्नी मिलती है। 
6. जूही के फूल से भगवान शिव की पूजा करें तो घर में कभी अन्न की कमी नहीं होती।
7. कनेर के फूलों से भगवान शिव की पूजा करने से नए वस्त्र मिलते हैं। 
8. हरसिंगार के फूलों से पूजन करने पर सुख-सम्पत्ति में वृद्धि होती है।
9. धतूरे के फूल से पूजन करने पर भगवान शंकर सुयोग्य पुत्र प्रदान करते हैं, जो कुल का नाम रोशन करता है।
10. लाल डंठलवाला धतूरा शिव पूजा में शुभ माना गया है। 
11. दूर्वा से भगवान शिव की पूजा करने पर उम्र बढ़ती है।
इन उपायों से प्रसन्न होते हैं भगवान शिव
1. सावन में रोज 21 बिल्वपत्रों पर चंदन से ऊं नम: शिवाय लिखकर शिवलिंग पर चढ़ाएं। इससे आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं।
2. अगर आपके घर में किसी भी प्रकार की परेशानी हो तो सावन में रोज सुबह घर में गोमूत्र का छिड़काव करें तथा गुग्गुल का धूप दें।
3. यदि आपके विवाह में अड़चन आ रही है तो सावन में रोज शिवलिंग पर केसर मिला हुआ दूध चढ़ाएं। इससे जल्दी ही आपके विवाह के योग बन सकते हैं।
4. सावन में रोज नंदी (बैल) को हरा चारा खिलाएं। इससे जीवन में सुख-समृद्धि आएगी और मन प्रसन्न रहेगा।
5. सावन में गरीबों को भोजन कराएं, इससे आपके घर में कभी अन्न की कमी नहीं होगी तथा पितरों की आत्मा को शांति मिलेगी।
6. सावन में रोज सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निपट कर समीप स्थित किसी शिव मंदिर में जाएं और भगवान शिव का जल से अभिषेक करें और उन्हें काले तिल अर्पण करें। इसके बाद मंदिर में कुछ देर बैठकर मन ही मन में ऊं नम: शिवाय मंत्र का जाप करें। इससे मन को शांति मिलेगी।

उपाय (Remedy)
*बारिश के जल का अति दुर्लभ प्रयोग*
 
क्या आप जानते है कि बारिश का पानी भी आपकी सभी मनोकामनाओ को पूर्ण करता हैं।
 
1. अगर आप बारिश का पानी इकट्टा करके सभाल कर रखते हे और इसको अगर आप ईशान कोण में रखते हे तो अचानक धन लाभ होता हैं।
 
2. बारिश के पानी से अगर आप विष्णु और लक्ष्मी का अभिषेक एकादशी को करते हे तो व्यापार में फायदा तो होता ही हे और परिवार में प्रेम बढ़ता हैं।
 
3. अगर बारिश के पानी से गणपति का अभिषेक करते हे तो बुद्धि तेज होती हे।विवाह योग शीघ् बनता हे।
 
4. अगर कोई जातक ज्यादा बीमार हे तो उसको रोज महामृत्युंजय मन्त्र का जप करते हुए बारिश का जल औषधि के रूप में पीना चाहिए।
 
5. अगर कर्ज ज्यादा हो रहा हे तो बारिश के पानी में दूध डाल कर स्नान करना चाहिए।
 
6. सावन के महीने में बारिश के जल से जो शिवजी का जलाभिषेक करते हे तो उनकी सारी परेशानियां दूर होती हैं। 

उपाय (Remedy)
🌹निराशा से आशा की और💐
     बढ़ता एक कदम ग्रुप से
🐾🐾🐾🐾🐾🐾🐾🐾
 
आपके जीवन की निराशा का अंत
    करता एक सकारात्मक ग्रुप
🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷
 
 
 
   क्यों जी रहे आप तनाव भरी
               जिंदगी
  💐💐💐💐💐💐💐💐
 
दोस्तों,
 
     हममे से करीब 75 प्रतिशत से ज्यादा बिना वजह के तनाव की जिंदगी जी रहे हैं । तनाव भी बिना कारण का । जैसे आपके यंहा किसी बच्चे को दुर्घटना मै लग जाए तो तनाव,आसपास मे कोई भाग जाए तो तनाव, ऑफिस का तनाव, कल की चिंता ,कभी कभी तो बिना वजह की बात पर दिमाग मै तनाव ला कर हम
घर का माहौल बिगाड़ लेते हैं ।
 
    अच्छा मजे की बात ये हैं हम कई बार बाहर या ऑफिस का गुस्सा घर मे लाते हैं, और घर का माहौल खराब कर देते हैं । उसी प्रकार महिलायें भी आपस मै सास बहू का झगड़ा लेकर बेचारा आदमी जो थका मांदा आता हैं, बैठता नही की बकबक शुरू कर देती हैं ।
 
     इस तनाव की स्थिति मे हम कभी खुश नही रह पाते, कभी कभी तो ऐसा लगता हैं की हमारा जीवन मात्र दुखो का निर्वाह करने और दुखो के बोझ तले पीसने को ही लिखा हैं ।कुछ दिनों इस दुःख को झेलते झेलते हम निराश हो जाते हैं, और जीवन का आनन्द भूल जाते हैं ।
 
     हम जिंदगी को दुखो से दूर रहकर
भी जी सकते हैं ।दरअसल हम खुद दुःख पालते हैं, बिना वजह का कचरा जो बाहरी नकारात्मक लोग दिमाग मै भर देते हैं घर मे लाकर घर का माहौल खराब कर देते हैं । कई लोगो की आदत होती हैं की हमारी हसती खेलती जिंदगी मै आग लगाने की,वो हमारे बच्चे, परिवार के बारे मै भड़का कर अलग हो जाते हैं, और हम उनकी बातो मे आकर घर का माहौल खराब कर देते हैं ।
 
    आइये दुखो के बोझ से हटाने के लिये एक प्रेरणादायक कथा से आपको समझाता हूँ ।
 
    एक समय की बात है, एक गाँव में महान ऋषि रहते थे| लोग उनके पास अपनी कठिनाईयां लेकर आते थे और ऋषि उनका मार्गदर्शन करते थे| एक दिन एक व्यक्ति, ऋषि के पास आया और ऋषि से एक प्रश्न पूछा| उसने ऋषि से पूछा कि “गुरुदेव मैं यह जानना चाहता हुईं कि हमेशा खुश रहने का राज़ क्या है?” 
 
ऋषि ने उससे कहा कि तुम मेरे साथ जंगल में चलो, मैं तुम्हे खुश रहने का राज़ बताता हूँ|
 
ऐसा कहकर ऋषि और वह व्यक्ति जंगल की तरफ चलने लगे| रास्ते में ऋषि ने एक बड़ा सा पत्थर उठाया और उस व्यक्ति को कह दिया कि इसे पकड़ो और चलो| उस व्यक्ति ने पत्थर को उठाया और वह ऋषि के साथ साथ जंगल की तरफ चलने लगा|
कुछ समय बाद उस व्यक्ति के हाथ में दर्द होने लगा लेकिन वह चुप रहा और चलता रहा| लेकिन जब चलते हुए बहुत समय बीत गया और उस व्यक्ति से दर्द सहा नहीं गया तो उसने ऋषि से कहा कि उसे दर्द हो रहा है| तो ऋषि ने कहा कि इस पत्थर को नीचे रख दो| पत्थर को नीचे रखने पर उस व्यक्ति को बड़ी राहत महसूस हुयी|
तभी ऋषि ने कहा – “यही है खुश रहने का राज़ | 
 
व्यक्ति ने कहा – गुरुवर मैं समझा नहीं|
 
तो ऋषि ने कहा-
जिस तरह इस पत्थर को एक मिनट तक हाथ में रखने पर थोडा सा दर्द होता है और अगर इसे एक घंटे तक हाथ में रखें तो थोडा ज्यादा दर्द होता है और अगर इसे और ज्यादा समय तक उठाये रखेंगे तो दर्द बढ़ता जायेगा उसी तरह दुखों के बोझ को जितने ज्यादा समय तक उठाये रखेंगे उतने ही ज्यादा हम दु:खी और निराश रहेंगे| यह हम पर निर्भर करता है कि हम दुखों के बोझ को एक मिनट तक उठाये रखते है या उसे जिंदगी भर|
 
 अगर तुम खुश रहना चाहते हो तो  दु:ख रुपी पत्थर को जल्दी से जल्दी नीचे रखना सीख लो और हो सके तो उसे उठाओ ही नहीं।
 
   हम अक्सर ऐसा करते हैं बिना बजह का दुःख पाल लेते हैं, और उसके तले हमारी आज की जिंदगी को जीना भूल जाते हैं ।आज से बिना वजह का दुःख का पत्थर दिमाग से निकालकर फेकींए, अपने पर,अपनों पर, अपने भगवान पर विश्वास रखिये।
क्योकि आज का सुख आज ही मिलेगा,और जो आज आनन्द ले लिया वो कल नही मिलेगा ।
 
   निराशा से आशा की और ग्रुप
 
🐾🌹🐾🌹🐾🌹🐾🌹🐾


उपाय (Remedy)

कर्ज की समस्या के ज्योतिषीय कारण और समाधान -

हमारा जन्म होते ही हम सभी अपने प्रारब्ध के चक्र से बंध जाते हैं और जन्मकुंडली हमारे इसी प्रारब्ध को प्रकट करती है हमारे जीवन में सभी घटनाएं नवग्रह द्वारा ही संचालित होती हैं। आज के समय में जहाँ आर्थिक असंतुलन हमारी चिंता का एक मुख्य कारण है वहीँ एक दूसरी स्थिति जिसके कारण अधिकांश लोग चिंतित और परेशान रहते हैं वह है "कर्ज" धन का कर्ज चाहे किसी से व्यक्तिगत रूप से लिया गया हो या सरकारी लोन के रूप में ये दोनों ही स्थितियां व्यक्ति के ऊपर एक बोझ के समान बनी रहती हैं कई बार ना चाहते हुये भी परिस्थितिवश व्यक्ति को इस कर्ज रुपी बोझ का सामना करना पड़ता है वैसे तो आज के समय में अपने कार्यो की पूर्ती के लिए अधिकांश लोग कर्ज लेते हैं परन्तु जब जीवन पर्यन्त बनी रहे या बार बार सामने आये तो वास्तव में यह भी हमारी कुंडली में बने कुछ विशेष ग्रहयोगों के कारण ही होता है -

" हमारी कुंडली में "छटा भाव" कर्ज का भाव माना गया है अर्थात कुंडली का छटा भाव ही व्यक्ति के जीवन में कर्ज की स्थिति को नियंत्रित करता है जब कुंडली के
★छठ्टे भाव में कोई पाप योग बना हो या षष्टेश ग्रह बहुत पीड़ित हो तो व्यक्ति को कर्ज की समस्या का सामना करना पड़ता है जैसे -
★यदि छठ्ठे भाव में कोई पाप ग्रह नीच
राशि में भावस्थ हो,
★छठ्ठेे भाव में राहु-चन्द्रमाँ की युति या
★राहु-सूर्य के साथ होने से ग्रहण योग
बन रहा हो,
★छठ्ठेे भाव में राहु मंगल का योग हो,
★छठ्ठे भाव में गुरु-चाण्डाल योग बना हो,
★शनि-मंगल या केतु-मंगल की युति छठ्ठे भाव में हो तो ...ऐसे पाप या क्रूर योग जब कुंडली के छटे भाव में बनते हैं तो व्यक्ति को
★कर्ज की समस्या बहुत परेशान करती
है और
★री-पेमेंट में बहुत समस्यायें आती हैं।
★छठ्ठे भाव का स्वामी ग्रह भी जब नीच राशि में हो अष्टम भाव में हो या बहुत पीड़ित हो तो कर्ज की समस्या होती है । ★इसके अलावा "मंगल" को कर्ज का नैसर्गिक नियंत्रक ग्रह माना गया है !!
अतः यहाँ मंगल की भी महत्वपूर्ण भूमिका है यदि कुंडली में ...
★मंगल अपनी नीच राशि(कर्क) में हो आठवें भाव में बैठा हो, या ...
★अन्य प्रकार से अति पीड़ित हो तो भी कर्ज की समस्या बड़ा रूप ले लेती है"

विशेष: -
💥
यदि छठ्ठे भाव में बने पाप योग पर *बलि बृहस्पति की दृष्टि पड़ रही हो तो कर्ज का रीपेमेंट संघर्ष के बाद हो जाता है या व्यक्ति को कर्ज की समस्या का समाधान मिल जाता है परन्तु बृहस्पति की शुभ दृष्टि के आभाव में समस्या बनी रहती है l*
🔺छठ्ठे भाव में पाप योग जितने अधिक होंगे उतनी समस्या अधिक होगी, अतः
*🔺कुंडली का छठा भाव पीड़ित होने पर लोन आदि लेने में भी बहुत सतर्कता बरतनी चाहिये l*
🌺
बहुत बार व्यक्ति की कुंडली अच्छी होने पर भी व्यक्ति को कर्ज की समस्या का सामना करना पड़ता है जिसका कारण उस समय *कुंडली में चल रही अकारक ग्रहों की दशाएं या गोचर ग्रहों का प्रभाव होता है जिससे अस्थाई रूप से व्यक्ति उस विशेष समय काल के लिए कर्ज के बोझ से घिर जाता है l* उदाहरणार्थ : अकारक षष्टेश और द्वादशेश की दशा व्यक्ति कर्ज समस्या देती है l अतः प्रत्येक व्यक्ति की कुंडली में ★अलग अलग ग्रह-स्थिति और
★अलग अलग दशाओं के कारण व्यक्तिगत रूप से तो ★गहन विश्लेषण के बाद ही किसी व्यक्ति के लिए चल रही कर्ज समस्या के सटीक ज्योतिषीय उपाय निश्चित किये जा सकते हैं lअतः यहाँ हम कर्जमुक्ति के लिए ऐसे कुछ मुख्य उपाय बता रहे हैं जिन्हें कोई भी व्यक्ति कर सकता है l
🕉उपाय :-

🔺1. मंगल यन्त्र को घर के मंदिर में लाल वस्त्र पर स्थापित करें और प्रतिदिन इस मंत्र का एक माला जाप करें -

*ॐ क्राम क्रीम क्रोम सः भौमाय नमः।*
🔺2. प्रति दिन *ऋणमोचन मंगल स्तोत्र* का पाठ करें।
🔺3. *हनुमान चालीसा* का पाठ करें। 


उपाय (Remedy)
ज्योतिषीय उपाय में रोटी का महत्व ।
 मान्यता है कि दूसरों को खाना खिलाने पर पुण्य बढ़ता है और पुराने समय में किए गए पाप खत्म होते हैं। इसी वजह से कई लोग समय-समय पर खाना और अनाज दान करते रहते हैं। यहां जानिए रोटी के कुछ उपाय, जिनसे कुंडली के दोष दूर हो सकते हैं और घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है…
 
 रोटी के चार बराबर टुकड़े करें ।
 
हर रोज सुबह-सुबह जब रोटियां बनाई जाती हैं, उस समय पहली रोटी अलग निकाल लें। उस रोटी के चार बराबर टुकड़े कर लें। इनमें से एक टुकड़ा गाय को और दूसरा टुकड़ा काले कुत्ते को देना है। तीसरा कौओं के लिए घर की छत पर डालना है। अंतिम टुकड़ा घर के पास किसी चौराहे पर रखकर आना है। ऐसा हर रोज करना चाहिए। इस उपाय से घर की गरीबी दूर हो सकती है।
 
यदि कुंडली में शनि या राहु-केतु का कोई दोष हो तो रोज रात को जो रोटी सबसे अंत में बनती है, उस पर तेल लगाएं और ये रोटी काले कुत्ते को खाने के लिए दें। यदि काला कुत्ता नहीं हो तो किसी अन्य कुत्ते को भी ये रोटी दी जा सकती है।

उपाय (Remedy)

* संगीत का हमारे शरीर में स्थित सप्त चक्रों पर प्रभाव-
भारतीय शास्त्रीय संगीत केवल जन मनोरंजन का ही साधन नहीं है, इसका सम्बन्ध प्रकृति व मानव शरीर से भी रहा है । भारत के प्राचीन वेदों में भारतीय संस्कृति व जीवन के तौर-तरीकों का वर्णन किया गया है । उसी में संगीत को सबसे बेहतर माना गया है । भारतीय शास्त्रीय संगीत का मानव स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है । संगीत के सात सुर ‘‘सा,रे,गा,मा,पा,धा,नि’’ का शरीर पर विशेष प्रभाव पड़ता है । वेदों में शरीर के सात चक्रों का वर्णन किया गया है जो मानव शरीर के विभिन्न भागों का संचालन करते हैं । संगीत के सात सुरों का इन सात चक्रों पर विभिन्न प्रभाव पड़ता है । ‘सा’ ‘मूलाधार’, ‘रे’ ‘स्वाधिष्ठान’, ‘गा’ ‘मणिपुर, ‘मा’ ‘अनाहत’, ‘पा’ ‘विशुद्ध’, ‘धा’ आज्ञा’ और ‘नि’ ‘सहस्र’ चक्र को सुचारू रखने में मदद करते हैं ।
वेदों में संगीत को योग माना गया है जिससे मानव शरीर स्वस्थ रहता है । शरीर रचना विज्ञान के अनुसार सभी बीमारियां वात, पित्त व कफ दोषों के कारण होती है । इन दोषों के निवारण में राग विशेष भूमिका निभाते हैं। रागों से आत्मिक सुख की अनुभूति होती है जिसके कारण इसे रोग निवारण में उपयुक्त माना गया है ।
 


आर्थिक तंगी व ग्रह दोष होंगे शांत

 

सभी देवों में सर्वप्रथम श्रीगणेश जी की पूजा की जाती है। बुधवार के दिन गणेश पूजा का विधान है। इस दिन भगवान गणेश की सच्चे मन से पूजा करने से संपूर्ण मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। इसके साथ ही ग्रह दोष भी शांत होते हैं। बुधवार के दिन कुछ सरल उपाय करने से व्यक्ति की बाधा, संकट, रोग, दरिद्रता का नाश होता है। जानिए, भगवान गणेश जी को प्रसन्न करने के उपाय-

 

बुधवार के दिन सुबह उठकर स्नानादि कार्यों से निवृत होकर गणेश जी के मंदिर में जाकर दूर्वा की 11या 21गांठ अर्पित करें। इससे शीघ्र शुभ फल की प्राप्ति होगी।

 

अथक प्रयास के बाद भी कार्यों में असफलता मिल रही हो तो बुधवार के दिन श्रीगणेश के इस मंत्र का विधि-विधान से जाप करें। ऐसा करने से व्यक्ति को संपूर्ण कष्टों से मुक्ति मिलेगी।

 

 

यदि अधिक मेहनत करने के बाद भी आर्थिक तंगी का सामना करना पड़े तो बुधवार के दिन श्री गणेश की विधिवत पूजा करने के बाद गुड़  घी का भोग लगाएं। थोड़ी देर के बाद ये भोग गाय को खिला दें। इससे व्यक्ति को विशेष फल की प्राप्ति होगी।

 

बुधवार के दिन घर में श्रीगणेश की सफेद रंग की प्रतिमा स्थापित करें। इससे घर की सारी नकारात्मक ऊर्जा का नाश होगा। घर में कभी भी ऊपरी शक्तियों का साया नहीं रहेगा।

 

घर में सदैव कलह होने से परिवार में सुख-शांति नहीं रहती। इसके लिए बुधवार को दूर्वा से निर्मित प्रतिकात्मक प्रतिमा बनवाकर उसे घर के पूजा स्थल में स्थापित करें। उसके बाद प्रतिदिन उनका विधि-विधान से पूजन करें।

 

बुधवार के दिन गाय को हरी घास खिलाएं। ऐसा करने से सभी देवी-देवता की कृपा सदैव बनी रहती है।

 

हनुमानजी के साथ श्रीगणेश जी का सिंदूर से श्रृंगार किया जाता है। श्रीगणेश जी को सिंदूर अर्पित करने से सभी परेशानियों से मुक्ति मिलती है।

 

बुधवार को किसी गरीब या मंदिर में जाकर हरे मूंग दान करें। इससे बुध ग्रह शांत हो जाएगा।

 

बुधवार के दिन गणेश जी को शमी के पत्ते अर्पित करें। ऐसा करने से तीक्ष्ण बुद्धि होती है। इसके साथ ही कलह का नाश होता है  मानसिक शांति मिलती है। शमी के पत्ते अर्पित करते समय इस मंत्र का जाप करें। इससे गणेश जी शीघ्र प्रसन्न होते हैं। 


उपाय (Remedy)

सम्मोहन शक्ति के अन्य प्रयोग:
लाल अपामार्ग की टहनी से 6 मास तक दातून करने पर वाणी में सम्मोहन और वचन सिद्धि का प्रभाव उत्पन्न होता है।
इसी पौधे की जड़ ले आयें, उसकी भस्म बनाकर दूध के साथ पीने से संतानोत्पत्ति की स्थिति बनती है। स्त्री पुरुष दोनों को पीना चाहिये।
इसके बीजों का चावल निकाले। उन चावलों की खीर खाने से भूख मर जाती है।
सफेद लटजीरे की जड़ किसी शुभ-मुहूर्त में लाकर पास रखें। यह कल्याणकारी होती है।
इसकी जड़ किसी शुभ-मुहूर्त में लाकर पीसें और तिलक करें इस तिलक में वशीकरण की शक्ति होती है।
बहेड़ा और अपामार्ग (श्वेत) की जड़ंे लेकर शत्रु के घर में डालने से उसका परिवार उच्चाटन ग्रस्त हो जाता है।
विच्छू के डंक मारने पर इसकी पत्ती पीसकर लगा दें विष उत्तर जायेगा। इसकी लकड़ी भी बिच्छू का विष दूर कर देती है।
इसकी जड़ का लेप शस्त्र प्रहार से रक्षा करता है।
सोंठ की माला पहनने से ज्वर उतर जाता है।
श्वेत कनेर की जड़ को दायें हाथ में बांधने से ज्वर शांत हो जाता है।
सफेद मदार की जड़ धारण करने से नजर और प्रेत बाधा दूर हो जाती है।
सहदेवी पौधे की जड़ के सात टुकड़े करके कमर में बांधने से अतिसार रोग मिट जाता है।
सफेद धुंधची की जड़ घिसकर सूंघने और उसे कान पर बांधने से आधा शीशी का दर्द मिट जाता है।
सेहुंड की जड़ दांतों तले दबाने से दंतकीट नष्ट हो जाते हैं।
लोबान की जड़ गले में बांधने से खांसी दूर हो जाती है।
सफेद धुंधुची की जड़ सिर के नीचे रखने से अनिद्रा रोग मिट जाता है।
तिल्ली का रोग दूर करने के लिए गले में प्याज की माला पहनना लाभदायक है।
कमल के बीज और चावल बकरी के दूध में पीसकर खीर बनायें। यह खीर खाने वालों को चार दिन तक भूख नहीं लगती।
सत्यानाशी की जड़ पान में खिलाने से बिच्छू का जहर उतर जाता है।
शिरीष वृक्ष के फूलों की माला पहनकर भोजन करने से खुराक बढ़ जाती है। 


उपाय (Remedy)

कर्ज की समस्या के ज्योतिषीय कारण और समाधान -

हमारा जन्म होते ही हम सभी अपने प्रारब्ध के चक्र से बंध जाते हैं और जन्मकुंडली हमारे इसी प्रारब्ध को प्रकट करती है हमारे जीवन में सभी घटनाएं नवग्रह द्वारा ही संचालित होती हैं। आज के समय में जहाँ आर्थिक असंतुलन हमारी चिंता का एक मुख्य कारण है वहीँ एक दूसरी स्थिति जिसके कारण अधिकांश लोग चिंतित और परेशान रहते हैं वह है "कर्ज" धन का कर्ज चाहे किसी से व्यक्तिगत रूप से लिया गया हो या सरकारी लोन के रूप में ये दोनों ही स्थितियां व्यक्ति के ऊपर एक बोझ के समान बनी रहती हैं कई बार ना चाहते हुये भी परिस्थितिवश व्यक्ति को इस कर्ज रुपी बोझ का सामना करना पड़ता है वैसे तो आज के समय में अपने कार्यो की पूर्ती के लिए अधिकांश लोग कर्ज लेते हैं परन्तु जब जीवन पर्यन्त बनी रहे या बार बार सामने आये तो वास्तव में यह भी हमारी कुंडली में बने कुछ विशेष ग्रहयोगों के कारण ही होता है -

" हमारी कुंडली में "छटा भाव" कर्ज का भाव माना गया है अर्थात कुंडली का छटा भाव ही व्यक्ति के जीवन में कर्ज की स्थिति को नियंत्रित करता है जब कुंडली के
★छठ्टे भाव में कोई पाप योग बना हो या षष्टेश ग्रह बहुत पीड़ित हो तो व्यक्ति को कर्ज की समस्या का सामना करना पड़ता है जैसे -
★यदि छठ्ठे भाव में कोई पाप ग्रह नीच
राशि में भावस्थ हो,
★छठ्ठेे भाव में राहु-चन्द्रमाँ की युति या
★राहु-सूर्य के साथ होने से ग्रहण योग
बन रहा हो,
★छठ्ठेे भाव में राहु मंगल का योग हो,
★छठ्ठे भाव में गुरु-चाण्डाल योग बना हो,
★शनि-मंगल या केतु-मंगल की युति छठ्ठे भाव में हो तो ...ऐसे पाप या क्रूर योग जब कुंडली के छटे भाव में बनते हैं तो व्यक्ति को
★कर्ज की समस्या बहुत परेशान करती
है और
★री-पेमेंट में बहुत समस्यायें आती हैं।
★छठ्ठे भाव का स्वामी ग्रह भी जब नीच राशि में हो अष्टम भाव में हो या बहुत पीड़ित हो तो कर्ज की समस्या होती है । ★इसके अलावा "मंगल" को कर्ज का नैसर्गिक नियंत्रक ग्रह माना गया है !!
अतः यहाँ मंगल की भी महत्वपूर्ण भूमिका है यदि कुंडली में ...
★मंगल अपनी नीच राशि(कर्क) में हो आठवें भाव में बैठा हो, या ...
★अन्य प्रकार से अति पीड़ित हो तो भी कर्ज की समस्या बड़ा रूप ले लेती है"

विशेष: -
💥
यदि छठ्ठे भाव में बने पाप योग पर *बलि बृहस्पति की दृष्टि पड़ रही हो तो कर्ज का रीपेमेंट संघर्ष के बाद हो जाता है या व्यक्ति को कर्ज की समस्या का समाधान मिल जाता है परन्तु बृहस्पति की शुभ दृष्टि के आभाव में समस्या बनी रहती है l*
🔺छठ्ठे भाव में पाप योग जितने अधिक होंगे उतनी समस्या अधिक होगी, अतः
*🔺कुंडली का छठा भाव पीड़ित होने पर लोन आदि लेने में भी बहुत सतर्कता बरतनी चाहिये l*
🌺
बहुत बार व्यक्ति की कुंडली अच्छी होने पर भी व्यक्ति को कर्ज की समस्या का सामना करना पड़ता है जिसका कारण उस समय *कुंडली में चल रही अकारक ग्रहों की दशाएं या गोचर ग्रहों का प्रभाव होता है जिससे अस्थाई रूप से व्यक्ति उस विशेष समय काल के लिए कर्ज के बोझ से घिर जाता है l* उदाहरणार्थ : अकारक षष्टेश और द्वादशेश की दशा व्यक्ति कर्ज समस्या देती है l अतः प्रत्येक व्यक्ति की कुंडली में ★अलग अलग ग्रह-स्थिति और
★अलग अलग दशाओं के कारण व्यक्तिगत रूप से तो ★गहन विश्लेषण के बाद ही किसी व्यक्ति के लिए चल रही कर्ज समस्या के सटीक ज्योतिषीय उपाय निश्चित किये जा सकते हैं lअतः यहाँ हम कर्जमुक्ति के लिए ऐसे कुछ मुख्य उपाय बता रहे हैं जिन्हें कोई भी व्यक्ति कर सकता है l
🕉उपाय :-

🔺1. मंगल यन्त्र को घर के मंदिर में लाल वस्त्र पर स्थापित करें और प्रतिदिन इस मंत्र का एक माला जाप करें -

*ॐ क्राम क्रीम क्रोम सः भौमाय नमः।*
🔺2. प्रति दिन *ऋणमोचन मंगल स्तोत्र* का पाठ करें।
🔺3. *हनुमान चालीसा* का पाठ करें। 


उपाय (Remedy)

☀ *घर में दरिद्रता आने के कुछ कारण...* ~~~~~~~~~~~~~~~~~~
*1:-* रसोई घर के पास में पेशाब करना ।
*2:-* टूटी हुई कंघी से कंघा करना ।
*3:-* टूटा हुआ सामान उपयोग करना।
*4:-* घर में कूड़ा-करकट रखना।
*5:-*रिश्तेदारों से बदसुलूकी करना।
*6:-* बांए पैर से पैंट पहनना।
*7:-* सांध्या वेला मे सोना।
*8:-* मेहमान आने पर नाखुश होना।
*9:-* आमदनी से ज्यादा खर्च करना।
*10:-* दाँत से रोटी काट कर खाना।
*11:-* चालीस दिन से ज्यादा बाल रखना
*12:-*दाँत से नाखून काटना।
*13:-*औरतों का खड़े-खड़े बाल बाँधना।
*14:-*फटे हुए कपड़े पहनना ।
*15:-*सुबह सूरज निकलने के बाद तक सोते रहना।
*16:-*पेड़ के नीचे पेशााब करना।
*17:-*उल्टा सोना।
*18:-*शमशान भूमि में हँसना ।
*19:-*पीने का पानी रात में खुला रखना।
*20:-*रात में मांगने वाले को कुछ ना देना ।
*21:-*मन में बुरे ख्याल लाना।
*22:-*पवित्रता के बगैर धर्मग्रंथ पढना।
*23:-*शौच करते वक्त बातें करना।
*24:-*हाथ धोए बगैर भोजन करना ।
*25:-*अपनी औलाद को हरदम कोसना।
*26:-*दरवाजे पर बैठना।
*27:-*लहसुन प्याज के छीलके जलाना।
*28:-*साधू फकीर को अपमानित करना, उनसे रोटी या फिर और कोई चीज खरीदना।
*29:-*फूँक मार के दीपक बुझाना।
*30:-*ईश्वर को धन्यवाद किए बगैर भोजन करना।
*31:-*झूठी कसम खाना।
*32:-*जूते चप्पल उल्टा देख कर उसको सीधा नहीं करना।
*33:-*मकड़ी का जाला घर में रखना।
*34:-*रात को झाड़ू लगाना।
*35:-*अन्धेरे में भोजन करना ।
*36:-*घड़े में मुँह लगाकर पानी पीना।
*37:-*धर्मग्रंथ न पढ़ना।
*38:-*नदी, तालाब में शौच साफ करना और उसमें पेशाब करना ।
*39:-*गाय, बैल को लात मारना ।
*40:-*माता-पिता का अपमान करना ।
*41:-*किसी की गरीबी और लाचारी का मजाक उड़ाना ।
*42:-*दाँत गंदे रखना और रोज स्नान न करना ।
*43:-*बिना स्नान किये भोजन करना ।
*44:-*पड़ोसियों का अपमान करना, गाली देना ।
*45:-*मध्यरात्रि में भोजन करना ।
*46:-*गंदे बिस्तर पर सोना ।
*47:-*वासना और क्रोध से भरे रहना ।
*48:-*दूसरे को अपने से हीन समझना । इत्यादि- ___________________________
💥 *शास्त्रों में लिखा है- कि जो दूसरों का भला करता है, ईश्वर उसका भी भला करता है। मित्रों अच्छा व उपयोगी लगे तो अवश्य शेअर करें...👏*


*आप  सभी  के  लिए* *अत्यावश्यक* *सूचनाएं* 
-----------------------------------
 
 
1. सुप्रीम कोर्ट ने घोषणा की है कि यदि किसी का सड़क पर एक्सीडेंट होता है तो उसे कोई भी व्यक्ति तत्काल किसी नजदीक के  अस्पताल ले जाए और अस्पताल की यह सबसे पहली जिम्मेदारी है कि उसको भर्ती करें और किसी भी तरह की पुलिस रिपोर्ट के लिए बाध्य नहीं करें बल्कि यह डॉक्टर का कर्तव्य है कि उसका तुरंत आवश्यक इलाज करें और पुलिस को रिपोर्ट बाद में करें .
कृपया यह  सूचना अपने सभी ग्रुप्स में शेयर करें शायद किसी का जीवन बचाने में काम आ सके.
 
 2. भारतीय रेल प्रशासन ने एक प्रभावी शिकायत तंत्र विकसित किया है जिससे चलती रेल में किसी भी तरह की समस्या होने पर उसकी sms के द्वारा शिकायत की जा सकती है जिसके ऊपर निश्चित कार्रवाई होगी - आपको ट्रेन नंबर, बोगी नंबर ,यात्रा का समय व दिनांक आवश्यक रूप से देते हुए शिकायत -- जैसे फैन बंद है , बाथरूम में पानी नहीं है , लाइटें बंद है या कोई सुरक्षा से संबंधित समस्या है इत्यादि के लिए sms नंबर है 8121281212 कृपया इसे अधिक से अधिक
शेयर करें यह बहुत उपयोगी हो सकता है
 
3. यदि आप कभी भी कहीं पूरे भारत में किसी बच्चे को भीख मांगते हुए देखें तो कृपया तत्काल सूचित करें " रेड सोसायटी " मो नं 9940 217816 यह सोसाइटी बच्चों की शिक्षा में पूरी मदद करेगी !
 
4. यदि आपको कभी भी किसी भी ब्लड ग्रुप के ब्लड की आवश्यकता हो तो आपको एक नहीं हज़ारों दानदाता तुरंत उपलब्ध हो सकेंगे-- लॉगिन करें www.friendstosupport.org
 
 5. इंजीनियरिंग स्टूडेंट ऑफ केंपस सिलेक्शन के लिए रजिस्टर करें  www.campusconcil.com जिसमें 40 कंपनियां केंपस सिलेक्शन के लिए आप को मौका देगी !
 
6.दिव्यागों या शारीरिक अक्षम बच्चों के लिए फ्री शिक्षा व हॉस्टल के लिए संपर्क करें Mo. 98420 62501 & 98940 67506 
 
7.ऐसे व्यक्ति जिनमें किसी भी तरह की कान नाक या मुंह की जन्मजात विकृति हो या किसी अग्नि दुर्घटना के शिकार हो गए हो इन सब की निशुल्क प्लास्टिक सर्जरी ( का जर्मनी देश के विशेषज्ञ डॉक्टरो के द्वारा ) फ्री ऑपरेशन किया जाता है संपर्क करें -- कोडाइकनाल PASAM हॉस्पिटल जिसमें सब कुछ निशुल्क होगा फो.नं. है 045420-240668 & 245732
 
 8. यदि आपको कभी किसी के खोए हुए आवश्यक दस्तावेज कहीं मिलते हैं जैसे ड्राइविंग लाइसेंस ,पासपोर्ट, राशन कार्ड, बैंक पासबुक आदि तो आप नजदीक के पोस्ट- बॉक्स में डाल दे पोस्टल डिपार्टमेंट संबंधित व्यक्ति तक वह डॉक्यूमेंट पहुंचाकर उनसे अपना चार्ज ले लेगा !
 
9. नेत्रदान के बारे में कोई भी जानकारी या नेत्र-दान घोषणा आदि के लिए संपर्क करें - " शंकर नेत्रालय आई बैंक " www.ruraleye.org फो.नं. 044-28281919 & 044-28271616
 
10. किसी भी बच्चे ( 0 से 10 वर्ष उम्र ) के लिए ह्रदय की निशुल्क सर्जरी के लिए संपर्क करें -- श्री वल्ली बाबा इंस्टीट्यूट बेंगलुरु -10 संपर्क-मो नं 9916737471 
 
11. रक्त कैंसर /ब्लड कैंसर के लिए निशुल्क दवा " Imitinef  Mercilet " जिससे ब्लड कैंसर जड़ से दूर हो जाता है को प्राप्त करने के लिए संपर्क करें -- अडयार कैंसर इंस्टिट्यूट चेन्नई ; ईस्ट केनाल बैंक रोड गांधीनगर अडयार ; चेन्नई- 600020 ( मिशेल स्कूल के पास) फो.नं. 044-24910754 &  24911526 & 2235 0241 
 
कृपया इसे अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने में अपना सहयोग करें जिससे हम भारत को एक उत्कृष्ट देश बनाने में अपना अमूल्य योगदान दे सकें धन्यवाद

उपाय (Remedy)

13 ऐसी वेबसाइट्स, जिनके बारे में जानकर आप कहेंगे कि काश हमें पहले पता होता


इंटरनेट पर करोड़ों वेबसाइट्स उपलब्ध हैं और हर रोज हजारों नई वेबसाइट्स तैयार होती हैं। मगर वेबसाइट्स के इस महासागर में कुछ ही वेबसाइट्स ऐसी हैं, जो अलग सी सर्विसेज ऑफर करती हैं। हम लाए हैं 13 ऐसी ही वेबसाइट्स की लिस्ट, जो बहुत काम की हैं। आप कहेंगे कि काश! इनके बारे में पहले पता होता। आगे देखें…

1. Zamzar.com –  एक फाइल को दूसरी फाइल में कन्वर्ट करना है तो इसे ट्राई करें। साइनअप करने की भी जरूरत नहीं है। 1200 तरह की फाइल्स को कन्वर्ट किया जा सकता है। अगर आपके पास ऐसा फॉरमैट है जो साइट पर कन्वर्ट नहीं हो रहा, आप उसे इन्हें ईमेल कर दीजिए और वे इसे कन्वर्ट करने की कोशिश करेंगे। 50 MB से बड़े साइज की फाइल फ्री वर्जन में आप अपलोड नहीं कर सकते, यह बात ध्यान रखनी होगी। फाइल बड़ी है तो पेड सर्विस लेनी होगी।

2. Mailinator.com – इन दिनों लगभग सभी वेबसाइट्स आपको साइन-अप करने के लिए ईमेल अड्रेस इस्तेमाल करने को कहती हैं। वे साइट्स आपकी ईमेल आईडी को अन्य सर्विसेज के साथ शेयर करेंगी या नहीं, इस बारे में पक्के तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता। अगर उन्होंने शेयर कर दी तो आपके मेलबॉक्स में स्पैम्स की बाढ़ आ जाएगी। इसलिए Mailnator सर्विस का इस्तेमाल करके आप ऐसा ईमेल अड्रेस बना सकते हैं, जो कुछ ही घंटों बाद नष्ट हो जाता है। आप टेंपररी ईमेल के जरिए साइनअप करके अपना अकाउंट ऐक्टिवेट कर सकते हैं। स्पैम की चिंता किए बगैर आप ऐसा कई बार कर सकते हैं। आप कितने ईमेल अड्रेस बना सकते हैं, इसकी कोई लिमिट नहीं है। ध्यान देने वाली बात यह है कि इसके जरिए आप मेल सिर्फ रिसीव कर पाएंगे, सेंड नहीं।

3. PrivNote.com – कई बार आप किसी निजी जानकारी को किसी के साथ शेयर करना चाहते हैं, मगर सेफ्टी की चिंता होती है। जैसे कि मान लीजिए किसी को एटीएम पिन, बैंक पासवर्ड या ईमेल अड्रेस वगैरह बताना हो। ऐसी स्थिति में SMS, चैट या ईमेल का इस्तेमाल करना पूरी तरह सुरक्षित नहीं है। इसलिए आप PrivNote का इस्तेमाल करते हैं। इसके जरिए आप ईमेल या चैट के जरिए टेक्स्ट नोट भेज सकते हैं, जो सामने वाले द्वारा पढ़ लिए जाने के बाद डिलीट हो जाता है। आप नोट को एनक्रिप्ट भी कर सकते हैं।

4. Disposablewebpage.com – ईमेल अड्रेस की ही तरह आप टेंपररी वेबपेज भी बना सकते हैं। जन्मदिन, शादी या रीयूनियन वगैरह के लिए पेज बनाना है तो टेंपररी वेबपेज बनाना ठीक रहता है। आपको बस साइनअप करके अपना पेज बनाना है। कोडिंग की भी जरूरत नहीं है, आइकॉन के जरिए आप पेज क्रिएट कर सकते हैं। टेक्स्ट, फोटो, विडियो और लोकेशन वगैरह आप इसमें ऐड कर सकते हैं। इसके बाद आप अपने दोस्तों वगैरह के साथ वेबपेज का लिंक शेयर कर सकते हैं। 90 दिन बाद यह पेज अपने आप डिलीट हो जाता है।

5. SimplyNoise & ASoftMurmur – किसी काम पर फोकस करना हो तो ये वेबसाइट्स आपकी मदद करेंगी। ये फ्री में आपको बहुत सारे ऐंबियंट साउंड ऑफर करती हैं। आप नॉइज़ सिलेक्ट करके ऑडियो लेवल और स्लीप टाइमर ऑप्शन वगैरह सेट कर सकते हैं। asoftmurmur पर आप बारिश, लहरों, पक्षियों और कॉफी शॉप तक के साउंड को चुन सकते हैं। दोनों वेबसाइट्स के ऐंड्रॉयड और iOS ऐप्स भी हैं।

6. ManualsLib.com – जब आप कोई नया प्रॉडक्ट खरीदते हैं, हो सकता है कि इसमें यूजर मैनुअल न हो। यह भी हो सकता है कि आपने वह फेंक दी हो या गुम हो गई हो। ऐसे में आप ManualsLib.com में जाकर विभिन्न डिवाइसेज की कैटिगरी में जाकर अपने डिवाइस या प्रॉडक्ट को सर्च कर सकते हैं। उसकी मैन्युअल आपके सामने होगी। आप उसे प्रिंट भी कर सकते हैं।

7. Newsmap.jp – क्या आपको कभी ऐसे सिंगल पेज की जरूरत महसूस हुई है जहां पर आप लेटेस्ट और ट्रेडिंग न्यूज को एक ही जगह पा सकें?Newsmap यही काम करता है। यह आपको हेडलाइन्स दिखाता है और हर कैटिगरी के हिसाब से अलग रंग में दिखाता है। आप इसे कस्टमाइज भी कर सकते हैं। हेडलाइन बॉक्स का साइज बताता है कि न्यूज कितनी ट्रेंड हो रही है। अगर आप कोई आर्टिकल पढ़ना चाहते हैं तो आपको किसी हेडलाइन पर क्लिक करना होगा और आर्टिकल नए टैब में खुल जाएगा।

8. AccountKiller.com – ज्यादातर सोशल नेटवर्क वेबसाइट्स अकाउंट क्लोज करने की प्रक्रिया को जटिल बनाकर रखती हैं। अगर आप अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स को डिलीट करना चाहते हैं तो AccountKiller.com पर जाएं। यह आपको बताएगी कि कौन सी वेबसाइट से अकाउंट हटाना कितना मुश्किल है। क्लिक करने पर यह डिऐक्टिवेशन के लिए डायरेक्ट लिंक दे देता है।

9. TwoFoods.com – अगर आप अपनी सेहत को लेकर फिक्रमंद हैं और यह देखना चाहते हैं कि आप कितनी कैलरीज़ ले रहे हैं, TwoFoods.com आपके लिए ही है। इसमें एक पेज का इंटरफेस है, जो अलग-अलग तरह के खाने की कैलरीज़ के बारे में बताता है। आप किसी डिश का नाम इनपुट कीजिए और यह उसमें मौजूद कैलरीज़, कार्ब, फैट्स और प्रोटीन की जानकारी दे देगा। भारतीय व्यंजनों के लिए यह मिलते-जुलते व्यंजनों को सजेस्ट करता है, जिससे आपको कुछ आइडिया मिल जाए।

10. Pdfunlock.com – कुछ PDF फाइल्स प्रॉटेक्टेड होती हैं। अगर आपके पास प्रॉटेक्टेड फाइल का पासवर्ड भी है, तब भी आप इसमें बदलाव नहीं कर पाएंगे। प्रॉटेक्शन को रिमूव करने के लिए PDUnlock पर जाएं, पासवर्ड डालकर अनलॉक करें और यह वेबसाइट आपको अनप्रॉटेक्टेड PDF डाउनलोड करने को दे देगी।  यह सर्विस फ्री है और आप इसे पेपाल के जरिए डोनेट कर सकते हैं। इसी तरह आप pdfmerge.com, splitpdf.com और pdfprotect.net को भी ट्राई कर सकते हैं।

11. Savr.com – हम सभी कई सारे डिवाइसेज पर काम करते हैं, मगर उनके बीच फाइल्स को शेयर करना आसान नहीं है। अगर आप चाहते हैं कि यूएसबी ड्राइव के बिना या खुद को ही ईमेल भेजे बिना फाइल्स शेयर की जा सकें तो Savr.com को ट्राई करें। यह आपको कॉमन क्लिपबोर्ड और कॉमन स्पेस देता है, जहां आप फाइल्स स्टोर कर सकते हैं। यह पीसी और मोबाइल पर भी काम होती है। 25 MB तक की फाइल्स शेयर की जा सकती हैं।

12. Printfriendly.com – कभी ब्राउजर से किसी वेबपेज को डायरेक्ट प्रिंट करने की कोशिश की है? अजीब सा प्रिंट आता है, जिसमें तस्वीरें, लिंक वगैरह नजर आते हैं। अगर आप चाहते हैं कि मुख्य टेक्स्ट ही प्रिंट हो, इसके लिए आपको उस पेज का URL लेकर Printfriendly.com में पेस्ट करना होगा। कुछ ही सेकंड्स में यह प्रिंटेबल पेज दिखा देता है, जहां से आप प्रिंट दे सकते हैं। Firefox, Chrome, Internet Explorer और Safari के लिए प्रिंटफ्रेंडली के एक्सटेंशन भी उपलब्ध हैं।

13. Spreeder.com – अगर आप जल्दी-जल्दी सबकुछ पढ़ना शुरू कर दें तो बहुत सी जानकारी जुटा पाएंगे। पढ़ने की स्पीड अभ्यास से बढ़ाई जा सकती है। Spreeder.com पर आप किसी टेक्स्ट का हिस्सा पोस्ट कीजिए। यह एक-एक शब्द आपके सामने डिस्प्ले करना शुरू कर देगा, जिसे आप पढ़ सकते हैं। आप टेक्स्ट वगैरह को कस्टमाइज कर सकते हैं और अपनी स्पीड माप सकते हैं। स्पीड वगैरह को भी अजस्ट कर सकते हैं। इस तरह आप किसी भी पैरा को जल्दी पढ़ सकते हैं।


🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
*नवरात्र के टोटके , पूरी हो सकती है हर मनोकामना*
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
शास्त्रो के अनुसार जीवन के सभी क्षेत्रो में सफलता प्राप्त करने के लिए माँ दुर्गा की आराधना परम सुखदायी है। नवरात्रि माँ दुर्गा को अत्यंत प्रिय है ।शास्त्रो में वर्णित है कि नवरात्रि में माँ दुर्गा अपने भक्तो के सभी कष्ट दूर करती है। ऐसा माना जाता है कि नवरात्र में किये गए सात्विक उपाय शीघ्र फलदायी होते है। नवरात्र में कुछ अचूक उपायों को करके भक्तो की सभी मनोकामनाएँ निश्चय ही पूर्ण होती है। यहाँ पर ऐसे ही नवरात्रि के अचूक उपाय दिए जा रहे है जिन्हें पूर्ण श्रद्धा एवं विश्वास से करने से जीवन में सुखो का वास रहेगा।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
🌸✔नवरात्रि में पूजा के समय प्रतिदिन माता को शहद एवं इत्र चड़ाना कतई भी न भूले । नौ दिन के बाद जो भी शहद और इत्र बच जाएँ उसे प्रतिदिन माता का स्मरण करते हुए खुद इस्तेमाल करें …..मां की आप पर सदैव कृपा द्रष्टि बनी रहेगी।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
🌸✔नवरात्र में माता दुर्गाजी को शहद को भोग लगाने से भक्तो को सुंदर रूप प्राप्त होता है व्यक्तित्व में तेज प्रकट होता है।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
🌸✔नवरात्री में माँ दुर्गा की आराधना “लाल रंग के कम्बल” के आसन पर बैठकर करना अति उत्तम माना गया है। इससे सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती है ।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
🌸✔नवरात्र में स्थाई लक्ष्मी प्राप्ति के लिए नित्य पान में गुलाब की 7 पंखुरियां रखकर तथा मां दुर्गा को अर्पित करें ।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
नवरात्र में प्रतिदिन नीचे दिए गए मंत्रो का ज्यादा से ज्यादा जाप करें ।

🌼🙏 1 . “सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थ साधिके । शरण्ये त्र्यंबके गौरी नारायणि नमोस्तुते “।।

🌼🙏 2 . “ऊँ जयन्ती मङ्गलाकाली भद्रकाली कपालिनी ।दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तुते” ।।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
🌸✔नवरात्र में प्रात: श्रीरामरक्षा स्तोत्र का पाठ करने से हर कार्य सफल होते है,कार्यों के मार्ग में आने वाली समस्त विघ्न बाधाएं शांत होती हैं।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
🌸✔नवरात्रि को माँ दुर्गा के साथ बजरंग बलि की पूजा विशेष फलदायी है। इस दिन जो भी भक्त हनुमान चालीसा का पाठ करता है या सुंदरकांड का पाठ करता तो उसे शनिदेव भी नहीं सताते हैं। नवरात्रि में हनुमान ही की कृपा प्राप्त करने के लिए यह उपाय करें ।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
🌸✔नवरात्र के शनिवार को सूर्योदय के पहले पीपल के ग्यारह पत्तें लेकर उन पर राम नाम लिख कर इन पत्तों की माला बनाकर इसे हनुमानजी को पहना दें। इससे कारोबार की सभी परेशानिया दूर होती है ,यह प्रयोग बिलकुल चुपचाप करें।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
🌸✔यदि किसी जातक का लाख प्रयासों के बावजूद भी कर्जे से पीछा नहीं छुट रहा है तो वह नवरात्री में माँ के श्री चरणों में 108 गुलाब के पुष्प अर्पित करें। प्रात: माता की पूजा के समय सवा किलो साबुत लाल मसूर लाल कपड़ें में बांधकर अपने सामने रख दें। घी का दीपक जलाकर माता के किसी भी सिद्ध मंत्र का 108 बार जाप करें। पूजा समाप्त होने के पश्चात मसूर को अपने ऊपर से 7 बार उसार कर किसी भी सफाई कर्मचारी को दान में दे दें। इससे माता की कृपा से कर्जें से छुटकारा मिलने का रास्ता बनने लगेगा ।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
🌸✔यदि किसी व्यकित के ऊपर कर्ज है और लाख चाहने के बाद भी उतर नहीं पा रहा है तो वह जीवन भर का एक नियम बना ले कि उसे नित्य चींटीयों को शक्कर मिलाकर आटा / या पंजीरी ( आटे में चीनी को भून कर ) किसी पेड़ के नीचे या जहाँ पर चींटियों का बिल है वहाँ पर डालना है । इस प्रयोग को लगातार करते रहने से कर्ज समाप्त हो जाता है फिर इतनी आमदनी होने लगती है कि कर्ज को भविष्य में लेने की जरूरत ही नहीं रहती है। इस प्रयोग को अगर किसी शुभ मुहूर्त , नवरात्र में किया जाय तो इसका शीघ्र ही फल मिलता है ।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
🌸✔नवरात्रि में दिल खोलकर आप अपनी श्रद्धा और सामर्थ्य के अनुसार दान पुण्य करें …इन दिनों आपके द्वारा दान पुण्य करने से उसका अक्षय फल प्राप्त होता है । आप प्रतिदिन छोटी कन्याओं को कोई न कोई उपहार अवश्य जी दें । अपने माता पिता, बहन-भाई और पत्नी को भी कोई न कोई उपहार देकर चकित जरुर करते रहें, गरीब और असहाए की मदद करने का मौका तो बिलकुल भी न गवाएं। यकीन मानिये उन सभी के मुख से आपके लिए शुभ वचन निकलते ही रहेंगे ।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
🌸✔आपने माता का आह्वान किया है उन्हें अपने घर में बुलाया है इसलिए सुबह शाम जो भी घर में भोजन बनायें सबसे पहले उसका देवी माँ को भोग लगायें उसके बाद ही घर के सदस्य उसका सेवन करें याद रहे माता या किसी भी मेहमान को भूखा न रखें ।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
🌸✔नवरात्र में आप अनावश्यक व्यय से बचें लेकिन यदि संभव हो तो इन दिनों सोने चाँदी के गहने, कपड़े, बर्तन आदि कुछ न कुछ नया सामान अपनी सामर्थ्य के अनुसार अवश्य ही खरीदें तथा इसे उपयोग में लाने से पहले माता के चरणों में लगायें। इससे घर में सुख सौभाग्य आता है स्थाई संपत्ति का वास होता है।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
🌸✔घर के छोटे बच्चो विधार्थियों से माता दुर्गा को केले का भोग लगवाएं फिर उनमे से कुछ केले दान में दे दें एवं बाकी केलो को प्रसाद के रूप में घर के लोग ग्रहण करें इससे बच्चों की बुद्धि का विकास होता है।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
🌸✔नवरात्र में दो जमुनिया रत्न लेकर उसे गंगा जल में डुबोकर घर के मंदिर में रखे फिर हर शनिवार को माता दुर्गा का स्मरण करते हुए उस जल को पूरे घर में छिड़क दें, घर के सदस्यों के बीच में प्रेम बड़ने लगेगा । इसके बाद पुन: इन रत्नों को गंगा जल में डुबोकर मंदिर में रख दें ।इस प्रयोग को नवरात्र से ही शुरू करें तो अति उत्तम है।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
🌸✔नवरात्र में एक नए झाड़ू की दो सीकों को उल्टा सीधा रखकर नीले धागे से बांधकर घर के नैत्रत्य कोण ( दक्षिण पश्चिम हिस्सा ) में रखने से पति पत्नी के मध्य प्यार बड़ता है।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
🌸✔नवरात्र के सोमवार और शनिवार के दिन शिवलिंग पर काले तिल और जल चढ़ाएं यह उपाय बीमारियों से मुक्ति दिलाने वाला बहुत सरल और कारगर उपाय है।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱
🌸✔नवरात्री की सप्तमी के दिन माँ कालरात्रि की पूजा की जाती है । माँ कालरात्रि की कृपा के लिए दुर्गा सप्तशती के 7वें और 10 वें अध्याय का पाठ करना चाहिए । माँ कालरात्रि की कृपा से शत्रुओं का नाश होता है राजद्वार, मुक़दमे में विजय मिलती है ।
🔱🔱🔱🔱🔱🔱🔱


The Tathastoo.com

we provides wide range of astrological services like online horoscope making & matching, online astrology consultancy for all problems.

------- Speak to our team today -------

info@thetathastoo.com | Call: +9185880 32669